अब नहीं खरीद पाएंगे दो बोतल शराब, पढ़े

अब नहीं खरीद पाएंगे  दो बोतल शराब, पढ़े

देश के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट्स के ड्यूटी फ्री (Duty Free) दुकानों से अब आप दो बोतल शराब नहीं खरीद पाएंगे। केन्द्र सरकार सभी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट्स (Airports) से शराब खरीदने की संख्या कम करने पर विचार कर रही है। नए सिफारिशों में साफ बोला गया है कि हिंदुस्तान आने वाले प्रति यात्री को सिर्फ एक बोतल शराब ही खरीदने की लिमिट होनी चाहिए। आगामी बजट में केंद्रीय वित्त मंत्री इस नए कदम की घोषणा कर सकती है।

क्यों घटाई जा रही है शराब खरीदने की लिमिट?
सूत्रों का बोलना है कि यह सिफारिश वाणिज्य मंत्रालय (Commerce Ministry) की ओर से वित्त मंत्रालय को भेजी गई है। इसमें वाणिज्य मंत्रालय ने बोला है कि कई देश अभी अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को अधिकतम एक लीटर शराब खरीदने की मंजूरी देते हैं। ड्यूटी फ्री दुकान से देश में आने वाला विदेशी यात्री आमतौर पर करीब 50,000 रुपये का सामान खरीद सकता है व इस पर उसे आयात शुल्क नहीं देना होता है। इससे सरकार को आमदनी में घाटा होता है। यही कारण है कि प्रति यात्री मात्र एक लीटर शराब खरीद को लागू करने पर विचार हो रहा है। इसके अतिरिक्त ड्यूटी फ्री स्टोर से एक कार्टन सिगरेट खरीदने की सुविधा को भी बंद करने का सुझाव दिया है।

सरकार को होता है घाटा
एक अन्य ऑफिसर का बोलना है कि सरकार देश में गैर-जरूरी वस्तुओं के आयात को कम करने के विभिन्न तरीकों पर गौर कर रही है। सरकार का मानना है कि इन गैर-जरूरी वस्तुओं के आयात से देश का व्यापार घाटा बढ़ता है। वित्त मंत्रालय को सिफारिश की गई है कि सभी अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों पर ये नियम लागू किया जाए। इससे हमें कम नुकसान होगा। लोकल बाजारों से शराब और सिगरेट खरीदी जाती है तो सरकार की आय बढ़ेगी।

300 से ज्यादा वस्तुओं पर भी आयात शुल्क बढ़ाने का विचार
इससे पहले वाणिज्य मंत्रालय की ओर से आयातित खिलौनों व फुटवियरों में भी आयात शुल्क बढा़ने की सिफारिश की गई है। आगामी बजट में वित्त मंत्रालय खिलौनों व फुटवियर के अतिरिक्त 300 आइटमों पर आयात शुल्क बढ़ाने का निर्णय ले सकती है।