बैंकों की छुट्टी की वजह से अब Salary में देरी नहीं होगी, EMI भी तय तारीख को ही कटेगी

बैंकों की छुट्टी की वजह से अब Salary में देरी नहीं होगी, EMI भी तय तारीख को ही कटेगी

नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH) की सुविधा अब सप्ताह के सातों दिन उपलब्ध होगी। मौद्रिक नीति समीक्षा के फैसलों की जानकारी देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को इसकी घोषणा की। यह व्यवस्था पहली अगस्त से लागू होगी। इसका सीधा मतलब यह है कि किसी की सैलरी अब सिर्फ इस वजह से नहीं रुकेगी कि निर्धारित तिथि को बैंक बंद हैं।

इसके साथ ही होम लोन, ऑटो लोन और पर्सनल लोन समेत किसी भी तरह की समान मासिक किस्त (EMI) या अन्य किसी भी तरह की सावधिक देय राशि का जो दिन निर्धारित है, अब वह राशि अकाउंट से उसी दिन कट जाएगी।

वर्तमान व्यवस्था के तहत एनएसीएच का परिचालन बैंकों के कार्यदिवस में ही होता है। हालांकि, लोन ग्राहकों को इसका एक फायदा यह होता है कि अगर निर्धारित तिथि को उनके खाते में ईएमआइ जितनी रकम नहीं होती है, तो बैंक छुट्टी होने और ईएमआइ अगले दिन कटने की सूरत में उन्हें खाते में इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से पर्याप्त रकम डालने के लिए कुछ घंटों की मोहलत मिल जाती है। इसकी वजह यह है कि इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से किसी भी बैंक खाते से दूसरे खाते में रकम जमा करने की सुविधा चौबीसों घंटे उपलब्ध है।


एनएसीएच सुविधा सातों दिन नहीं मिलने का बहुत से कई बार पेशेवरों को उनके खाते में वेतन, कई तरह के लाभांश और ब्याज निर्धारित तिथि को नहीं आते हैं। मसलन, अगर वेतन या लाभांश की निर्धारित तिथि को अवकाश पड़ जाता है तो खाते में वह रकम अगले दिन आती है। नई व्यवस्था के तहत बैंक खाते में मासिक वेतन भी चाहे रविवार हो या छुट्टी का कोई और दिन, उसी निर्धारित तिथि को आ जाएगा।

आरबीआइ ने कहा कि ग्राहक सुविधा बढ़ाने तथा रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) का पूरा लाभ उठाने के लिए एनएसीएच की सुविधा सप्ताह के सातों दिन और चौबीसों घंटे जारी रखने का फैसला लिया गया है।


RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

नई दिल्‍ली यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाने की सोच रहे हैं, लेकिन आरटीओ (RTO) में होने वाले ड्राइविंग टेस्‍ट से बचना चाह रहे हैं तो आपके लिए राहत देने वाली समाचार है जल्‍द ही आरटीओ में बगैर ड्राइविंग टेस्‍ट के ही लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) से मान्‍यता प्राप्‍त ड्राइविंग टेस्‍ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके बाद सेंटर से एक सर्टिफिकेट मिलेगा इसके आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते समय टेस्‍ट देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यह मान्‍यता प्राप्‍त टेनिंग सेंटर 1 जुलाई 2021 से प्रारम्भ हो जाएंगे सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस विषय में आदेश जारी कर दिए हैं

सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार, प्रति साल देश में होने वाले हादसों का एक कारण ट्रेंड ड्राइवरों की कमी होना है मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा समय देश में करीब 22 लाख ड्राइवरों की कमी है इस कमी को पूरा करने और सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने तय गाइडलाइन के मुताबिक देशभर में ड्राइवर टेनिंग सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है लोग मंत्रालय के मानक के मुताबिक सेंटर खोल सकते हैं, जिसमें लोगों को ट्रेनिंग दी सकेगी ट्रेनिंग के बाद टेस्‍ट लिया जाएगा टेस्‍ट पास करने वालों को सेंटर सर्टिफिकेट देगा, जिसके आधार पर बगैर टेस्‍ट दिए ड्राइविंग लाइसेंस बन सकेगा

ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर के लिए शर्तें
ट्रेनिंग सेंटर के लिए मैदानी इलाके में दो एकड़ और पहाड़ी इलाके में एक एकड़ जमीन की आश्‍वयकता होगी एलएमवी और एचएमवी दोनों तरह के वाहनों के लिए सिम्‍युलेटर जरूरी होगा, जिससे ट्रेनिंग दी जाएगी यहां पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस और इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण होगी सेंटर में पार्किंग, रिवर्स ड्राइविंग, ढलान, ड्राइविंग आदि ट्रेनिंग देने के लिए ड्राइविंग ट्रैक जरूरी होगा इसमें थ्‍योरी और सेंगमेंट कोर्स होंगे सेंटर में सिम्‍युलेटर की सहायता से हाईवे, ग्रामीण इलाके, भीड़भाड़ और लेन में चलने वाली जगहों पर बरसात, कोहरा और रात में वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी