1,500 रुपये से कम कीमत में आते हैं ये शानदार नेकबैंड ईयरफोन

1,500 रुपये से कम कीमत में आते हैं ये शानदार नेकबैंड ईयरफोन

अगर आप अपने लिए किफायती नेकबैंड ईयरफोन की तलाश कर रहे हैं, तो यह खबर आपके काम की है। आज हम आपको यहां भारतीय बाजार में उपलब्ध कुछ खास और चुनिंदा वायरलेस ईयरफोन के बारे में बताएंगे, जिनकी कीमत 1,500 रुपये से कम है। इनमें आपको माइक्रोफोन से लेकर कंट्रोल बटन तक का सपोर्ट मिलेगा। आइए इन शानदार ईयरफोन पर डालते हैं एक नजर... 

Noise Tune Elite

कीमत : 999 रुपये

Noise Tune Elite ईयरफोन ब्लू और रेड कलर ऑप्शन में उपलब्ध है। इस ईयरफोन में 6mm के ड्राइवर और कनेक्टिविटी के लिए ब्लूटूथ 5 दिया गया है, जिसकी कनेक्टिविटी रेंज 10 मीटर है। इसके अलावा यूजर्स को ईयरफोन में दमदार बैटरी मिलेगी। कंपनी का दावा है कि इसकी बैटरी सिंगल चार्ज में 10 घंटे का बैकअप देती है। 

Boult Audio ProBass

कीमत : 1,099 रुपये

स्पेसिफिकेशन की बात करें तो कंपनी ने Boult Audio ProBass ईयरफोन में माइक्रोफोन और ब्लूटूथ 5 दिया है। इसकी कनेक्टिविटी रेंज 10 मीटर है। इसके अलावा ईयरफोन में दमदार बैटरी मिलेगी, जो सिंगल चार्ज में 10 घंटे का बैकअप देती है। इसकी बैटरी को फुल चार्ज होने में 1 घंटे का समय लगता है।  

कीमत : 1,299 रुपये

Redmi SonicBass वायरलेस इयरफोन ड्यूल माइक और एनवायरमेंटल न्वाइज कैंसिलेंशन (ENC) फीचर के साथ आएगा। इयरफोन को केबल में ही कई फीचर्स का सपोर्ट मिलेगा, जिसकी मदद से इयरफोन के वॉल्यूम को कम और ज्यादा कर पाएंगे। साथ ही कॉल रिसीव करने और रिजेक्ट करने का भी ऑप्शन भी इयरफोन की इन-लाइन केबल में मिलेगा। कंपनी का दावा है कि Redmi SonicBass वायरलेस इयरफोन को सिंगल चार्ज में 12 घंटे तक इस्तेमाल किया जा सकेगा।

कीमत : 1,490 रुपये

ZEBRONICS ZEB-YOGA शानदार ईयरफोन में से एक है। इस ईयरफोन में वॉयस असिस्टेंट का सपोर्ट दिया गया है। साथ ही इसमें यूजर्स को 10mm का ड्राइवर, कंट्रोल बटन और मैग्नेटिक ईयरबड्स मिलेंगे। इसके अलावा ईयरफोन में दमदार बैटरी दी गई है, जो सिंगल चार्ज में 8 घंटे से ज्यादा का बैकअप देती है।


RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

नई दिल्‍ली यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाने की सोच रहे हैं, लेकिन आरटीओ (RTO) में होने वाले ड्राइविंग टेस्‍ट से बचना चाह रहे हैं तो आपके लिए राहत देने वाली समाचार है जल्‍द ही आरटीओ में बगैर ड्राइविंग टेस्‍ट के ही लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) से मान्‍यता प्राप्‍त ड्राइविंग टेस्‍ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके बाद सेंटर से एक सर्टिफिकेट मिलेगा इसके आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते समय टेस्‍ट देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यह मान्‍यता प्राप्‍त टेनिंग सेंटर 1 जुलाई 2021 से प्रारम्भ हो जाएंगे सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस विषय में आदेश जारी कर दिए हैं

सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार, प्रति साल देश में होने वाले हादसों का एक कारण ट्रेंड ड्राइवरों की कमी होना है मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा समय देश में करीब 22 लाख ड्राइवरों की कमी है इस कमी को पूरा करने और सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने तय गाइडलाइन के मुताबिक देशभर में ड्राइवर टेनिंग सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है लोग मंत्रालय के मानक के मुताबिक सेंटर खोल सकते हैं, जिसमें लोगों को ट्रेनिंग दी सकेगी ट्रेनिंग के बाद टेस्‍ट लिया जाएगा टेस्‍ट पास करने वालों को सेंटर सर्टिफिकेट देगा, जिसके आधार पर बगैर टेस्‍ट दिए ड्राइविंग लाइसेंस बन सकेगा

ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर के लिए शर्तें
ट्रेनिंग सेंटर के लिए मैदानी इलाके में दो एकड़ और पहाड़ी इलाके में एक एकड़ जमीन की आश्‍वयकता होगी एलएमवी और एचएमवी दोनों तरह के वाहनों के लिए सिम्‍युलेटर जरूरी होगा, जिससे ट्रेनिंग दी जाएगी यहां पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस और इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण होगी सेंटर में पार्किंग, रिवर्स ड्राइविंग, ढलान, ड्राइविंग आदि ट्रेनिंग देने के लिए ड्राइविंग ट्रैक जरूरी होगा इसमें थ्‍योरी और सेंगमेंट कोर्स होंगे सेंटर में सिम्‍युलेटर की सहायता से हाईवे, ग्रामीण इलाके, भीड़भाड़ और लेन में चलने वाली जगहों पर बरसात, कोहरा और रात में वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी