भारती एयरटेल ने एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू पर बकाया इतने करोड़ रुपए

भारती एयरटेल ने एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू पर  बकाया इतने करोड़ रुपए

भारती एयरटेल ने एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (एजीआर) के बकाया 35,586 करोड़ रुपए में से 10,000 करोड़ का भुगतान दूरसंचार विभाग को कर दिया है. शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय की सख्ती के बाद दूरसंचार विभाग ने तुरंत भुगतान के आदेश दिए थे. एयरटेल ने बोला था कि 10,000 करोड़ रुपए 20 फरवरी तक व बाकी रकम 17 मार्च तक चुका देंगे.

सुप्रीम न्यायालय ने टेलीकॉम कंपनियों को अवमानना की चेतावनी दी थी
एजीआर मुद्दे में उच्चतम न्यायालय ने 24 अक्टूबर 2019 को दूरसंचार विभाग के पक्ष में निर्णय देते हुए टेलीकॉम कंपनियों को 23 जनवरी तक बकाया राशि चुकाने का आदेश दिया था. कंपनियों ने ब्याज व पेनल्टी में राहत की अपील करते हुए निर्णय पर फिर से विचार करने की याचिका दायर की, लेकिन वह भी खारिज हो गई. इसके बाद भुगतान के लिए व समय देने की अपील की थी. उच्चतम न्यायालय ने पिछले शुक्रवार को यह अपील भी खारिज कर दी व टेलीकॉम कंपनियों पर नाराजगी जाहिर करते हुए बोला कि क्यों न आपके विरूद्ध अवमानना की कार्रवाई की जाए?

वोडाफोन-आइडिया पर 53,038 करोड़ रुपए बकाया
वोडाफोन-आइडिया ने शनिवार को बोला था कि वह आकलन कर रही है कि कितना भुगतान कर सकती है. वोडाफोन-आइडिया पर एजीआर के 53,038 करोड़ रुपए बकाया हैं. कंपनी के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने पिछले दिनों यह भी बोला था कि भुगतान की राशि में छूट नहीं मिली तो कंपनी बंद करनी पड़ सकती है.