केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कर दिया अनलॉक- 2.0 के दिशानिर्देश जारी

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कर दिया अनलॉक- 2.0 के दिशानिर्देश जारी

कोरोना वायरस (Coronavirus) प्रसार को रोकने के लिए देश भर में लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) में पिछले महीने ही कई बड़ी छूट दी गई थीं। अब इन छूटों को व बढ़ाते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय (Union Home Ministry) ने अनलॉक- 2.0 के दिशानिर्देश (Unlock- 2.0 Guidelines) जारी कर दिये हैं। नये दिशानिर्देशों

के मुताबिक अब सिर्फ कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) घोषित किए गए इलाकों में 31 जुलाई तक कर्फ्यू (Curfew) जारी रहेगा। बाकी सभी जगहों पर गतिविधियों में भारी छूट दी गई है।

सोमवार को जारी की गई ये गाइडलाइन्स 1 जुलाई, 2020 से 31 जुलाई, 2020 तक के लिए है। इस दौरान कई ऐसे सवाल होंगे, जो आपके दिमाग में उठ रहे होंगे। यहां हम दे रहे हैं ऐसे सभी सवालों का जवाब-

  • क्या लॉकडाउन पूरी तरह से समाप्त हो गया है?

    नहीं, लॉकडाउन पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है बल्कि इसे चरणबद्ध ढंग से कम संक्रमण वाले व बिना संक्रमण वाले इलाकों में खोले जाने की योजना को विस्तार दिया गया है। वहीं कंटेनमेंट जोन घोषित किये गये इलाकों में लॉकडाउन 31 जुलाई, 2020 तक के लिये बढ़ा दिया गया है।

  • कंटेनमेंट जोन? ये क्या हैं?

    एक नियंत्रण क्षेत्र है जहां कोविड-19 पॉजिटिव मामलों की ज्यादा संख्या है। किसी क्षेत्र को एक नियंत्रण क्षेत्र (Containment Zone) घोषित करने का फैसला लेने के लिए जिला अधिकारियों/ लोकल प्रशासन को अधिकार दिया गया है। बड़े प्रसार के मुद्दे में, नगरपालिका वॉर्ड, नगरपालिका क्षेत्र, थाना क्षेत्र, कस्बों आदि की पूरी आबादी जहां से मामलों व संपर्कों की सूचना दी जाती है, उन्हें कंटेनमेंट जोन बनाया जाता है।  कंटेनमेंट जोन का निर्धारण जिला प्रशासन, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशानिर्देशों का ध्यान में रखते हुए करता है। जिले की रैपिड रिस्पांस टीम (RRT) उन मामलों / संपर्कों की सीमा के आधार पर क्षेत्रों की पहचान करती है जिन्हें वे सूचीबद्ध करते हैं व मापते हैं।

  • मुझे कंटेनमेंट जोन की जानकारी कहां से मिलेगी?

    कंटेनमेंट जोन का निर्धारण जिला प्रशासन, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशानिर्देशों का ध्यान रखते हुए करेगा, जिसका मकसद प्रभावशाली ढंग से संक्रमण की कड़ी को तोड़ना होगा। इन कंटनेमेंट जोन के बारे में संबंधित जिला कलेक्टर व प्रदेश या केंद्रशासित प्रदेश की वेबसाइट पर जानकारी दी जायेगी व इस जानकारी को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के साथ साझा किया जायेगा।

  • जो इलाके कंटेनमेंट जोन में नहीं हैं, वहां किस-किस वस्तु की छूट होगी?

    गैर कंटेनमेंट जोन में लगभग सभी गतिविधियों की छूट होगी। सिर्फ उन जगहों को छोड़कर जिनपर दिशानिर्देशों में या लोकल प्रशासन के जरिए प्रतिबंध लगाया गया है।

  • मेट्रो कबसे चलेगी?

    अभी मेट्रो पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। इसका निर्णय तीसरे चरण में लिया जायेगा।

  • तीसरा चरण कबसे लागू होना है?

    तीसरे चरण के लिए कोई तारीख नहीं तय की गई है। तीसरा चरण, पहले दोनों चरण के विश्लेषण के आधार पर तय किया जायेगा।

  • सिनेमा हॉल कबसे जा सकेंगे?

    अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। इसका निर्णय तीसरे चरण में लिया जायेगा।

  • जिम कबसे जा सकेंगे?

    अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। इसका निर्णय तीसरे चरण में लिया जायेगा।

  • स्विमिंग पूल कबसे जा सकेंगे?

    अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। इसका निर्णय तीसरे चरण में लिया जायेगा।

  • इंटरनेशनल फ्लाइट्स कबसे चालू होंगीं?

    कुछ फ्लाइट्स विदेश जायेंगीं। लेकिन इस दौरान यात्रियों को गृह मंत्रालय के आदेश वाली अंतर्राष्ट्रीय विमान यात्राओं को छोड़कर अन्य किसी अंतर्राष्ट्रीय विमान यात्रा की अनुमति नहीं होगी।

  • क्या अब एक शहर से दूसरे शहर में जा सकते हैं?

    हां बिल्कुल, इस पर अब कोई रोक नहीं है। जब तक आप किसी कंटेनमेंट जोन में नहीं आ-जा रहे। आप अपने प्रदेश में व प्रदेश से बाहर कहीं भी बिना किसी अनुमति के जा सकते हैं। हालांकि राज्यों को स्वास्थ्य कारणों से इसके लिये नियम बनाने की छूट होगी।

  • क्या रात का कर्फ्यू समाप्त हो गया है? रात में कहीं भी आया-जाया जा सकता है?

    नहीं रात का कर्फ्यू समाप्त नहीं हुआ है, यह जारी रहेगा। लेकिन यह केवल गैरजरूरी गतिविधियों पर जारी होगा। हालांकि रात के कर्फ्यू में छूट दी गई है व अब यह रात में 10 से सवेरे 5 बजे तक लागू होगा।

  • कंटेनमेंट जोन के बाहर किन-किन गतिविधियों की छूट होगी?

    राज्य व केंद्रशासित प्रदेश अपने यहां स्थितियों के विश्लेषण के हिसाब से गतिविधियों की छूट देंगे व ऐसे प्रतिबंध लगायेंगे जो महत्वपूर्ण होंगे।

  • क्या जिन्हें बीमारियां हैं? उनके लिये नियम अलग हैं?

    जिन लोगों को अधिक खतरा है, जैसे 65 वर्ष से ज्यादा आयु के लोग, जिन्हें कई बीमारियां हैं, प्रेग्नेंट महिलायें व 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों को घर पर रहने की सलाह दी गई है। इसमें चिकित्सक के यहां महत्वपूर्ण कार्य से जाने की छूट होगी।

  • क्या आरोग्य सेतु ऐप को जरूरी कर दिया गया है?

    नहीं आरोग्य सेतु को जरूरी नहीं किया गया है। हालांकि लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिये आरोग्य सेतु के इस्तेमाल को बढ़ाने के लिये प्रोत्साहित किया जायेगा। कार्यालय व वर्कप्लेस पर, कर्मचारियों की सुरक्षा के सबसे अच्छे कोशिश के तौर पर आरोग्य सेतु को इंस्टाल कराने की हिदायत दी गई है। जिला प्रशासन को पर्सनल रूप से उपयुक्त मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु को इंस्टाल कराने व लगातार अपडेट कराने के लिए प्रोत्साहित करने की जिम्मेदारी दी गई है।

  • यदि मैंने मास्क नहीं पहना तो क्या मुझ पर जुर्माना लगाया जाएगा?

    हां, सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना पहले ही जरूरी कर दिया गया था। प्रदेश सरकारों को इसे सख्ती से लागू करने के लिए बोला गया है।

  • यदि मैं किसी सार्वजनिक जगह पर थूकता हूं तो क्या मुझ पर जुर्माना लगाया जाएगा?

    हां, सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर प्रतिबंध पहले ही लगा दिया गया था। प्रदेश सरकारों को इसे सख्ती से लागू करने के लिए बोला गया है।

  • क्या मैं पेट्रोल खरीद पाऊंगा?

    हां, पेट्रोल पंप, एलपीजी व ऑयल एजेंसियां पहले से ही ​​काम कर रही हैं।

  • क्या बच्चे पार्क में जा सकते हैं?

    सभी क्षेत्रों में 65 साल से अधिक आयु के व्यक्ति, कई रोगों से ग्रस्त रोगी, गर्भवती महिलाएं व 10 साल से कम आयु के बच्चे घर पर रहेंगे।

  • क्या मेरा/मेरी हाउसहेल्प व ड्राइवर कार्य के लिए आ सकता है?

    हां, उन्हें गैर-कंटेनमेंट जोन में पहले से ही अनुमति दी गई है, लेकिन केवल अगर RWA अनुमति देता है, जिसे बाहरी लोगों के प्रवेश पर फैसला लेने का अधिकार है।

  • Coronavirus
  • Coronavirus pandemic
  • COVID 19
  • Covid19
  • home ministry
  • indian economy
  • Lockdown
  • Unlock-2