आज केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह थोड़ी देर में लोकसभा में पेश करेंगे यह बिल

आज केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह थोड़ी देर में लोकसभा में पेश करेंगे यह बिल

नागरिकता संशोधन बिल (Citizen Amendment Bill) को राज्यसभा में पेश कराने के बाद आज केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह थोड़ी देर में लोकसभा में पेश करेंगे. इसके लिए भाजपा ने अपने सांसदों को व्हीप भी जारी किया है. अगर नागरिक संशोधन बिल कानून बन जाता है तो पड़ोसी देश पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न के चलते आए हिन्दू, सिख, ईसाई, पारसी, जैन व बौद्ध धर्म को लोगों को सीएबी के तहत भारतीय नागरिकता मिल जाएगी.

नागरिकता संशोधन बिल को लेकर केंद्रीय संसदीय मामलों के मंत्री प्रल्हाद जोशी ने बोला कि यह विधेयक पूर्वोत्तर राज्यों व देश के हित में है. विधेयक को संसद के दोनों सदनों से मंजूरी मिल जाएगी. वहीं यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को लेटर लिखकर इसमें शिया समुदाय को शामिल करने का अनुरोध किया है. जबकि इस बिल के विरोध में त्रिपुरा में धरना प्रदर्शन किया जा रहा है. 

लोकसभा में बिल पेश होने से पहले असम के धुबरी से सांसद बदरुद्दीन अजमल ने बोला कि यह बिल संविधान के साथ-साथ हिंदु-मुस्लिम एकता के विरूद्ध है. हम इस विधेयक को खारिज कराएंगे व विपक्ष इस पर हमारे साथ हैं. हम बिल को पास नहीं होने देंगे. दूसरी ओर  भारतीय यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी के सांसदों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने धरना देकर इस बिल का विरोध किया.

वहीं समाजवादी पार्टी के प्रमुख व सांसद अखिलेश यादव ने बोला कि है कि हम नागरिकता संशोधन बिल 2019 के विरूद्ध है. पार्टी हर मूल्य पर इसका विरोध करेगी.