कोरोना वायरस से जंग जीत कर अपने घर पहुंचा शख्स, बढ़ाया सभी का हौसला

कोरोना वायरस से जंग जीत कर अपने घर पहुंचा शख्स, बढ़ाया सभी का हौसला

कोरोना एक ऐसी बीमारी है जिसके चपेट में जो एक बार आ जाएं तो सरलता से नहीं बच सकता। इस वायरस का संक्रमण आज पूरी संसार में लगातार फैला ही जा रहा है। हर दिन इस वायरस के कारण हजारों मौते हो रही है।

लेकिन इस वायरस से जंग लड़ने वाले कई लोगों ने हौसला नहीं हारी। व डट कर इस बीमारी का सामना कर रहे है। वहीं कोरोना बाहर से आने वाली बीमारी है। ऐसे में इससे जितनी सतर्कता बरती जाए वही बेहतर है। शिवपुर निवासी जितेंद्र 11 दिन तक अस्पताल में कोरोना से जंग लड़ने के बाद अब फिट होकर अपने घर पहुंच गया है। मंगलवार दोपहर बाद घर पहुंचे जितेंद्र ने मीडिया से फोन पर वार्ता में बोला कि अस्पताल में उन्हें डॉक्टरों के साथ-साथ पैरामेडिकल स्टाफ का भी पूरा सपोर्ट मिला। उसने बताया कि वह घर जरूर पहुंच गया लेकिन किसी से 14 दिनों तक नहीं मिलेगा। अपने नवजात बच्चे को भी 14 दिन बाद ही देखेगा।

पत्नी की डिलीवरी के लिए बॉस से मांगी थी छुट्टी: जितेंद्र ने बताया कि वह तो पत्नी की डिलिवरी के लिए दुबई से वाराणसी आ रहा था। इसके लिए पहले से ही बॉस से छुट्टी ली थी। क्या पता था कि कोरोना का संक्रमण उसे भी अपनी जद में ले लेगा। बताया कि वाराणसी एयरपोर्ट पर आने के बाद भी उसे किसी तरह की कोई कठिनाई नहीं थी। बाद में गले में खरास हुई थी तो चिकित्सक को बता दिया। दुबई से घर आने के बाद उसने खुद को क्वारंटीन कर लिया था।

अस्पताल में डॉक्टरों ने बढ़ाया हौसला: मिली जानकारी के अनुसार बारह दिन तक अस्पताल में रहकर उपचार कराने वाले जितेंद्र का बोलना है कि अस्पताल में भी उसे किसी तरह की कठिनाई नहीं हुई। यहां उपचार कर रहे डॉक्टरों ने भी उसका हौसला बढ़ाया। उपचार के दौरान चिकित्सक बार-बार उसे प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने व समय-समय पर योग करने व साफ-सफाई पर ध्यान देने की बात करते रहे। जितेंद्र बताया कि वह वार्ड में ही योग भी किया करता था।

लॉकडाउन से बेहतर कोई विकल्प नहीं: वहीं इस बात को लेकर जितेंद्र का बोलना है कि कोरोना केवल देश ही नहीं बल्कि दुनिया स्तर पर एक बड़ी महामारी का रूप ले चुका है। ऐसे में जिस तरह से लॉकडाउन किया गया है व लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की जा रही है तो इसको सभी को गंभीरता से लेना चाहिए। इससे बेहतर कोई व विकल्प नही है।