शिवसेना सरकार आम आदमी को कराएगी सस्ता भोजन, होंगे इतने करोड़ रुपये खर्च

 शिवसेना सरकार आम आदमी को कराएगी सस्ता भोजन, होंगे इतने करोड़ रुपये खर्च

महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार आम लोगों को 10 रुपये में ‘शिव भोजन’ कराएगी. इसके लिए सीएम उद्धव ठाकरे ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत हर जिले में एक-एक सेंटर खोलने की बात कही है. इस पायलट प्रोजेक्ट पर तीन महीने में 6.48 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

महाराष्ट्र कैबिनेट ने मंगलवार को सब्सिडी वाली भोजन योजना को मंजूरी दी. इससे पहले सीएम उद्धव ठाकरे ने विधानसभा में पिछले हफ्ते इस योजना का विधानसभा में जिक्र किया था. 10 रुपये वाले ‘शिव भोजन’ की थाली में दो रोटियां, एक सब्जी, चावल व दाल शामिल होगी.

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों के अनुसार योजना के पायलट प्रोजेक्ट के तहत हर जिला मुख्यालय में कम से कम एक भोजन बनाने व परोसने वाला एक सेंटर होगा. इस आउटलेट को दोपहर 12 बजे से दोपहर 2 बजे तक संचालित किया जाएगा. ये आउटलेट्स कम से कम 500 थालियां परोसेंगे.

अधिकारी ने बताया कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत इस योजना की अनुमानित लागत पहले तीन महीनों में 6.48 करोड़ रुपये होगी. प्रोजेक्ट से मिले फीडबैक के आधार पर ही प्रदेश के अन्य हिस्सों में व आउलेट खोलने के बारे में फैसला लिया जाएगा.

अधिकारी ने बताया कि सरकार की तरफ से आउटलेट खोलने के लिए इच्छुक पक्षों को आमंत्रित किया जाएगा. इस विषय में कुछ मानक तैयार कर लिए गए हैं. यह योजना शिवसेना के चुनावी घोषणाओं में से एक है. इसके साथ ही यह शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस व कांग्रेस पार्टी के बीच तय हुए न्यूनतम साझा प्रोग्राम का भी भाग है.

हालांकि, स्कीम के बारे में अभी कोई नाम कागजों में तय नहीं किया गया है. इसे शिव भोजन का नाम देना अप्रत्यक्ष रूप से शिव सेना से ही जोड़ना प्रतीत हो रहा है.