श्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने बोली बात

श्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने बोली  बात

वर्तमान में पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने बोला है कि वह संविधान के अनुसार कार्य करेंगे व बिलों को स्वीकार करने में देरी के लिए उन्हें दोषी नहीं ठहराया जा सकता। तृणमूल ने बोला कि गवर्नर जगदीप धनखड़ ने जानबूझकर कई विधेयकों को मंजूरी नहीं दी है। वहीं धनखड़ ने सरकार पर धीमी गति से कार्य करने व उनके सवालों का जवाब नहीं देने का आरोप लगाया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पश्चिम बंगाल विधानसभा में वरिष्ठ मंत्रियों सहित टीएमसी विधायकों ने विरोध प्रदर्शन किया व बिलों को मंजूरी देने में देरी पर धनखड़ को फटकार लगाई व उन्हें तत्काल हटाने की मांग की। टीएमसी, गवर्नर जगदीप धनखड़, जगदीप धनखड़ व ममता बनर्जी की छवि के बीच पश्चिम बंगाल विधानसभा शीतकालीन सत्र आकस्मित स्थगित कर दिया।

 

इस समय पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस पार्टी व गवर्नर के बीच चले आरोप-प्रत्यारोप के दौर के बीच विधानसभा का शीतकालीन सत्र मंगलवार को आकस्मित स्थगित कर दिया गया। तृणमूल ने बोला कि गवर्नर जगदीप धनखड़ ने जानबूझकर कई विधेयकों को मंजूरी नहीं दी है। वहीं धनखड़ ने सरकार पर धीमी गति से कार्य करने व उनके सवालों का जवाब नहीं देने का आरोप लगाया। बड़े सियासी टकराव का रूप ले चुके इस मामले पर संसद में भी हंगामा हुआ व तृणमूल सांसदों ने दोनों सदनों में इस मामले को उठाया। राज्यसभा में इस मामले पर चर्चा की अनुमति न मिलने पर उन्होंने सदन से बहिर्गमन किया। तृणमूल सांसदों ने विधेयकों को मंजूरी देने में कथित तौर पर देरी को लेकर धनखड़ की आलोचना की व उन्हें हटाने की मांग की।