दोषी मुकेश सिंह ने फांसी से बचने के लिए लगायी आखिरी गुहार, दाखिल की शीर्ष न्यायालय में पिटिशन

 दोषी मुकेश सिंह ने फांसी से बचने के लिए लगायी आखिरी गुहार, दाखिल की शीर्ष न्यायालय में पिटिशन

 निर्भया बलात्कार मुद्दे के दोषी मुकेश सिंह ने फांसी के विरूद्ध देश की शीर्ष न्यायालय में क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल की है। इससे पहले दोषी विनय शर्मा ने सर्वोच्च कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन दायर की थी। बता दें क्यूरेटिव पिटीशन तब दायर की जाती है, जब किसी मुजरिम की राष्ट्रपति के पास भेजी गई दया याचिका व शीर्ष न्यायालय में पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी जाती है।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार 7 जनवरी, 2020 को जब दिल्ली की न्यायालय ने निर्भया के चारों हत्यारों (पवन गुप्ता, मुकेश सिंह, विनय शर्मा व अक्षय ठाकुर) की फांसी का वारंट जारी कर दिया था। फांसी पर लटकाने की तारीख 22 जनवरी, 2020 व समय प्रातः काल 7 बजे तय कर दिया। स्थान निर्धारित कर दी गई है, दिल्ली की तिहाड़ कारागार (Tihar Jail) नंबर-3 में उपस्थित फांसीघर में दरिंदों को फांसी दी जाएगी।

आपको बता दें 16 दिसंबर, 2012 को 23 वर्षीय युवती के साथ चलती बस में बेरहमी से सामूहिक बलात्कार किया गया था, जिसके चलते बाद में उसकी मृत्यु हो गई थी। मुद्दे में छह आरोपियों को हिरासत में लिया गया था। इन सभी में से एक आरोपी नाबालिग था। उसे जुवेनाइल जस्टिस न्यायालय के सामने पेश किया गया था। वहीं, एक अन्य आरोपी राम सिंह ने तिहाड़ कारागार में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।