कोरोना : सरकार के लिए इंदौर अब भी सिरदर्द, इतनी हो गई मरीजो की संख्या

कोरोना : सरकार के लिए इंदौर अब भी सिरदर्द, इतनी हो गई मरीजो की संख्या

देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में इस महामारी से दो व मरीजों की मृत्यु की पुष्टि की गई है. नतीजतन जिले में महामारी की जद में आने के बाद दम तोड़ने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 57 पर पहुंच गई है. सरकार के लिए इंदौर अब भी सिरदर्द बना हुआ है.

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ऑफिसर (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने शनिवार को बताया कि शहर में पिछले तीन दिन में कोरोना वायरस संक्रमण से 75 वर्षीय पुरुष व 55 वर्षीय पुरुष की मृत्यु हुई. उन्होंने बताया कि दोनों मरीज शहर के भिन्न-भिन्न अस्पतालों में भर्ती थे. इनमें से एक आदमी को दमे की पुरानी समस्या थी.

सीएमएचओ ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में कोविड-19 के 56 नये मरीज मिलने के बाद इनकी तादाद 1,029 से बढ़कर 1,085 पर पहुंच गयी है. इनमें से 107 मरीजों को उपचार के बाद स्वस्थ होने पर अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है. 

आंकड़ों की गणना के मुताबिक जिले में कोविड-19 के मरीजों की मरीजों की मौत दर शनिवार प्रातः काल तक की स्थिति में 5.25 फीसदी थी. जिले में इस महामारी के मरीजों की मौत दर पिछले कई दिन से राष्ट्रीय औसत से ज्यादा बनी हुई है. इंदौर में कोरोना वायरस का पहला मरीज मिलने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है, जबकि जिले के अन्य स्थानों पर कठोर लॉकडाउन लागू है.