झारखंड : तबरेज के एडवोकेट ने न्यायालय में दी ये दलील

झारखंड : तबरेज के एडवोकेट ने न्यायालय में दी ये दलील

झारखंड के तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग मुद्दे में 6 आरोपियों को उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई है. मंगलवार को झारखंड उच्च न्यायालय ने 13 में से 6 आरोपियों को सबूतों के अभाव में जमानत दे दी. उच्च न्यायालय के जस्टिस आर मुखोपाध्याय की बेंच ने इस मुद्दे में सुनवाई करते हुए भीमसेनमंडल, चामू नायक, महेश महली, सत्यनारायण नायक, मदन नायक, विक्रम मंडल को मॉब लिंचिंग के इस मुद्दे में 6 महीने बाद जमानत मिल गई है.

तबरेज के एडवोकेट ने न्यायालय में दी ये दलील

- आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि तबरेज अंसारी की मर्डर के मुद्दे में पुलिस ने 13 आरोपियों को हिरासत में लिया था, जिसमें से 6 ने उच्च न्यायालय में जमानत याचिका लगाई थी. सुनवाई के दौरान आरोपियों के एडवोकेट ए। के। साहनी ने बेंच को बताया कि तबरेज अंसारी मुद्दे में इनका नाम प्राथमिकी में नहीं है व न ही नामजद आरोपी पप्पू मंडल ने पुलिस को दिए अपने बयान में इनका नाम लिया है. इस सब के बावजूद सभी आरोपी लगभग छह महीने से कारागार में बंद हैं.

- दलील में यह भी बोला गया कि तबरेज़ को चोरी के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था व चार दिन बाद उसकी तबीयत ख़राब हुई व उपचार के दौरान सदर अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई लिहाजा यह हिरासत में मृत्यु का मुद्दा है इसलिए इन अभियुक्तों को ज़मानत मिलनी चाहिए.

- आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि 6 महीने पहले झारखंड के सरायकेला इलाके में भीड़ ने तबरेज अंसारी नाम के एक शख्स को पीट-पीटकर मार डाला था. लोगों ने चोरी के संदेह में इस तबरेज को पकड़ा था. भीड़ ने मौके पर ही तबरेज को खूब पीटा था, जिसके बाद अस्पताल में उसकी मृत्यु हो गई थी.