पांच विधानसभा क्षेत्रों में इतने बजे तक होंगे मतदान

पांच विधानसभा क्षेत्रों में इतने बजे तक होंगे मतदान

तीसरे चरण में होने वाली 17 विधानसभा सीटों के लिए नेताओं की ओर से वोट की सार्वजनिक अपील मंगलवार को बंद हो जाएगी. शाम में तीन बजे के बाद चुनाव प्रचार का शोर आज थम जाएगा.  रांची, हटिया, कांके, रामगढ़ व बरकट्ठा विधानसभा सीटों पर शाम पांच बचे तक प्रचार कर सकेंगे. उम्मीदवारों के प्रतिनधि इसके बाद केवल पर्सनल सम्पर्क के जरिए ही मतदाताओं तक अपनी बात पहुंचा सकेंगे. तीसरे चरण के लिए 12 दिसंबर को मतदान होने हैं. इन 17 सीटों पर 309 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.

इस चरण की 17 सीटों में से  सिमरिया व कांके अनुसूचित जाति तथा खिजरी अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है. 14 सीटें सामान्य कोटि की हैं. इनमें 277 पुरुष व 32 महिला प्रत्याशी हैं. तीसरे चरण में ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 31 प्रत्याशी हैं. रांची व कांके में सबसे कम 12-12 प्रत्याशी हैं. बड़कागांव, रामगढ़, खिजरी, रांची व हटिया सीट में सबसे ज्यादा चार-चार महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

तीसरे चरण की 17 विधानसभा सीटें आठ जिलों में स्थित हैं. इनमें कोडरमा जिले में कोडरमा, हजारीबाग जिले में हजारीबाग, बरकट्ठा, बरही व मांडू, चतरा जिले में सिमरिया, रामगढ़ जिले में बड़कागांव व रामगढ़, गिरिडीह जिले में धनवार, बोकारो जिले में गोमिया व बेरमो, सरायकेला-खरसावां जिले में ईचागढ़ व रांची जिले में सिल्ली, खिजरी, रांची, हटिया व कांके शामिल हैं. 

आंकड़ों में तीसरा चरण 

  • कुल मतदाता: 56,06,743
  • कुल मतदान केंद्र: 7016

पांच विधानसभा क्षेत्रों में पांच बजे तक मतदान
विधानसभा चुनाव में मतदान की अवधि प्रातः काल सात बजे से शाम तीन बजे तक रखी गई है. पांच विधानसभा क्षेत्रों में मतदान की अवधि शाम पांच बजे तक रखी गई है. ये विधानसभा क्षेत्र रांची, हटिया, कांके, रामगढ़ व बरकट्ठा हैं. मुख्य निर्वाचन ऑफिसर विनय कुमार चौबे ने बताया कि तीसरे चरण में भी  रामगढ़, हजारीबाग व रांची विधानसभा क्षेत्र में बूथ ऐप का प्रयोग होने जा रहा है. इससे पहले दूसरे चरण में जमशेदपुर पूर्व, जमशेदपुर पश्चिम व चाईबासा में बूथ ऐप का प्रयोग हो चुका है। इसके अतिरिक्त देवघर (एससी), गांडेय, बोकारो औऱ झरिया विधानसभा क्षेत्र में भी बूथ ऐप का उपयोग किया जाना है. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि इससे यह भी सरलता से पता चल जाएगा कि कितने पुरुष औऱ कितनी महिला मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया है. इसके साथ ही बूथ ऐप से मतदान केंद्रों में मतदाताओं की पहचान सरलता से की जा सकेगी व इस ऐप से मतदानकर्मियों को मतदान से जुड़े कार्यों को संपादित करने में बहुत ज्यादा सहूलियत होगी.