लॉकडाउन के दौरान पंजाब में लोग कर रहे है इन बड़े नियमो का उल्लंघन, जाने खतरा

लॉकडाउन के दौरान पंजाब में लोग कर रहे है इन बड़े नियमो का उल्लंघन, जाने खतरा

दुनियाभर में नहीं थम रहा कोरोना का कहर जिसके कारण सरकार ने नया कदम उठाया है, जंहा सारे देश भर में लॉकडाउन का आदेश जारी कर लोगों से घरों में रहने की अपील की है, लेकिन इस बात का पालन अब भी कई जगह पर पूर्ण रूप से नहीं किया जा रहा है। 

वहीं सोमवार को बैंक खुलते ही पैसे निकालने को लेकर लोगों की बैंकों के बाहर लंबी-लंबी कतारे लग गई। कतारों में खड़े लोगों ने एक-दूसरे से दूरी भी नहीं बनाई। इसके अतिरिक्त जलालाबाद में ईटीटी व बीएड की भर्ती को लेकर लिए जाने वाले टेस्ट की जमा होने वाली फीस की 31 मार्च अंतिम तिथि होने के कारण बैंक के बाहर नौजवानों की भीड़ लग गई।

मिली जानकारी के अनुसार पंजाब सरकार की तरफ से ईटीटी की 1600 व बीएड के लिए करीब 3000 पोस्ट भरने का एलान किया था। सरकार ने इसके टेस्ट के लिए 31 मार्च अंतिम तिथि निश्चित की थी। सोमवार को बैंक खुलने के बाद बड़ी संख्या में विद्यार्थी पीएनबी पहुंचे। बैंक में विद्यार्थियों की फीस जमा नहीं हुई। उधर ईटीटी टेट पास यूनियन के सूबा प्रधान अमरजीत कम्बोज का बोलना है कि या तो सरकार औनलाइन फीस जमा करने की सुविधा दे या फिर तारीख आगे बढ़ाई जाए। एसडीएम केशव गोयल ने बताया कि उन्होंने विद्यार्थियों व लोगों को अपने व दूसरों से दूरी बना कर बैंक में प्रवेश करने के लिए आदेश दिए हैं।

अबोहर: बैंक खुलते ही उमड़ी ग्राहकों की भीड़: वहीं इस बात का पता चला है कि लॉकडाउन के दौरान सरकार सोमवार से अगले दो दिनों के लिए प्रातः काल 10 से शाम 4 बजे तक बैंक खोल दिए गए। इसकी सूचना मिलते ही बैंकों के बाहर पैसे लेने वालों की लंबी लाइनें लग गई। इस पर बैंक अधिकारियों ने मुख्य गेट बंद कर लिए व पुलिस प्रशासन को सूचना देकर स्थिति को नियंत्रित कराया। वहीं गली नंबर 4 स्थित एसबीआई एवं पंजाब नेशनल बैंक की मुख्य शाखा के बाहर लगी लाइनों में अधिकांश बुजुर्ग, विधवाएं एवं जरूरतमंद थे। इस दौरान सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखा गया। बैंक स्टाफ ने उपभोक्ताओं को एक-एक करके अंदर जाने दिया गया। पेंशन लेने पहुंची आनंद नगरी निवासी करीब 81 वर्षीय शीला रानी ने बताया कि वह प्रातः काल ही पीएनबी आ गई थीं।