केंद्र सरकार ने बढ़ाई राशि, अब सीआरपीएफ के शहीद जवानों के परिवार को मिलेंगे 35 लाख

केंद्र सरकार ने बढ़ाई राशि, अब सीआरपीएफ के शहीद जवानों के परिवार को मिलेंगे 35 लाख

केंद सरकार ने ड्यूटी के दौरान या किसी भी कारण से जान गवाने वाले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों  की अनुग्रह राशि को राशि को बढ़ा दिया है। सीआरपीएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से यह खबर आई है। अधिकारियों की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक नए नियमों के अनुसार, अब जंग में जान गवाने वाले सीआरपीएफ कर्मियों को 35 लाख दिए जाएंगे। नए नियमों के बनने से पहले 21.5 लाख रुपये की राशि सीआरपीएफ जवानों को दी जाती थी।

दूसरे मामलों में भी बढ़ाई गई राशि

 नए नियमों में जोखिम निधि को बढ़ा कर 25 लाख रुपये कर दिया गया है। नए नियमों से पहले यह राशि 16.5 लाख रुपये थी। इसके साथ ही सीआरपीएफ ने मारे जाने वाले जवानों की बहन, बेटी  की शादी में दी जाने वाली आर्थिक मदद में भी इजाफा किया है। इस राशि को भी बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दिया गया है जो पहले 50 हज़ार थी। अनुग्रह राशि दो कोष से दी जाएगी जिसमें बल के कर्मी इच्छा से अंशदान करते हैं। इसमें जोखिम कोष और केंद्रीय कल्याण कोष शामिल है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की।

सीआरपीएफ का यह रिक्स फंड पहले 21 लाख से 25 लाख के बीच का था यह राशि डायरेक्टोरेट जनरल की तरफ से तय की जाती थी। इससे पहले एयरपोर्ट पर तैनात (सीआईएसएफ) के  शहीद जवानों के परिवार के लिए यह अनुग्रह राशि 15 लाख रुपये थी, और भारत चीन सीमा की रखवाली करने वाले (आईटीबीपी) के जवानों की राशि 25 लाख रुपये थी। सीआरपीएफ देश का सबसे बड़ा अर्धसैनिक बल है जिसमें करीब 3 लाख जवान शामिल हैं। इन जवानों की तैनाती भारत के अलग अलग राज्यों में है जिसमें कश्मीर घाटी से लेकर नक्सल प्रभावित राज्य शामिल हैं।


रविंद केजरीवाल को पंजाब में दूल्हा नहीं मिल रहा, बारात अकेले ही नाच रही है

रविंद केजरीवाल को पंजाब में दूल्हा नहीं मिल रहा, बारात अकेले ही नाच रही है

पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू आम आदमी पार्टी (AAP) में आने के अरविंद केजरीवाल के बयान से भड़क गए हैं। गुरुवार को कादियां पहुंचे सिद्धू ने केजरीवाल और AAP का जमकर मखौल उड़ाया। सिद्धू ने कहा कि केजरीवाल को पंजाब में कोई दूल्हा (CM चेहरा) तो मिल नहीं रहा और बारात अकेले नाच रही है।

सिद्धू ने कहा कि अब वह केजरीवाल को नहीं छोड़ेंगे। सिद्धू की यह तल्खी तब सामने आई, जब केजरीवाल ने कहा कि सिद्धू उनकी पार्टी में आना चाहते थे। इसके बाद से सिद्धू का पारा चढ़ा हुआ है। सिद्धू ने केजरीवाल की गारंटियों को झूठा भी कहा।

सिद्धू लड़ता रहा, केजरीवाल ने माफी मांगी
सिद्धू ने कहा कि साढ़े 4 साल वह तस्करों से लड़ते रहे। रेत माफिया का मुकाबला किया। तब केजरीवाल तस्करों के आगे घुटने टेककर माफी मांगता रहा। अब साढ़े 4 साल बाद पंजाब में आ गया है।

पंजाब की महिलाओं को भिखारी समझा है क्या?
सिद्धू ने कहा कि केजरीवाल पंजाब की महिलाओं को एक-एक हजार देने की बात कहता है। क्या पंजाब की महिलाओं को भिखारी समझा है?। केजरीवाल मुझे यह बताए कि उसकी कैबिनेट में कोई महिला मंत्री क्यों नहीं है। दिल्ली में कितनी महिलाओं को पैसे दिए। अगर दिए होंगे तो मैं राजनीति ही छोड़ दूंगा

दिल्ली की हवा केजरीवाल ने खराब की
सिद्धू ने कहा कि जो दिल्ली की हवा ठीक न कर सका, वह पंजाब का क्या करेगा। दिल्ली में जब शीला दीक्षित CM थी तो 6 हजार CNG बसें चलती थी। अब यह सिर्फ 3 हजार रह गए हैं। मैट्रो के साढ़े 3 से 4 फेज नहीं हुए। केजरीवाल ने ही दिल्ली में ऑटो चलाए, जिनकी वजह से वहां प्रदूषण फैला है।

बजट 72 हजार करोड़, ऐलान 1.10 लाख करोड़ के
सिद्धू ने कहा कि केजरीवाल कहता है कि 26 लाख नौकरी देगा। उसके लिए 93 हजार करोड़ चाहिए। महिलाओं को एक-एक हजार रुपए देने के लिए 12 हजार करोड़ की जरूरत होगी। बिजली मुफ्त देने के लिए 3600 करोड़ रुपए चाहिए। यह सब मिलकर 1.10 लाख करोड़ हो गया। पंजाब का बजट 72 हजार करोड़ है। उसमें 70 हजार करोड़ वेतन और कर्जा चुकाने में जाता है। इस सबके लिए केजरीवाल पैसा कहां से लाएगा। ​​​​​​​

सिद्धू ने दिखाए CM जैसे तेवर
सिद्धू ने कादियां रैली में अगले CM जैसे तेवर दिखाए। सिद्धू ने कहा कि वह रोजगार और किसानों की आमदनी बढ़ाकर देंगे। दाल और तेल पर MSP देंगे। सिद्धू के शासन में उनके अपने बच्चे नहीं बल्कि आम लोगों के बच्चों को आगे रखा जाएगा। वह शासन नहीं परिवार चलाएंगे। छोटे किसानों के लिए कामकाज की जिम्मेदारी किसी IAS अफसर नहीं बल्कि किसान के ही हाथ में होगी। ​​​​​​​