एटीएम काण्ड : इस मामले में गिरफ्तार हुआ है एक रोमानियन नागरिक

एटीएम काण्ड :  इस मामले में गिरफ्तार हुआ है एक रोमानियन नागरिक

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में हुए एटीएम काण्ड (ATM Scam) में एक रोमानियन नागरिक सिलिविउ फ्लोरिन स्प्रीडन (28 साल) को दिल्ली के ग्रेटर कैलाश से अरैस्ट किया। इस मुद्दे में यह पहली गिरफ़्तारी है . यह आरोपी ग्रेटर कैलाश इलाके में किराये के मकान में रहता था व सोमवार (9 दिसंबर) शाम के समय इसे हिरासत में लिया गया . हालांकि इसका साथी अभी फरार है . CCTV फुटेज देखकर सिलिविउ की पहचान की गई व जाँच में पता चला की अमूमन ये लोग सुबह-सुबह उन ATM पर पहुंचते थे जहां ज़्यादा से ज़्यादा लोग घुसते थे ।

बताया जा रहा है की सोमवार को ग्रेटर कैलाश के एक ATM के पास कोलकाता पुलिस की एक टीम प्रातः काल 5 बजे से ही घात लगाए बैठी थी व जब सिलिविउ को भनक लगी की पुलिस उसके इर्द गिर्द है तो वो ATM से निकल गया व ऑटो पकड़कर वहां से भाग गया। इसके बाद पुलिस ने भी ऑटो में बैठकर उसका पीछा किया।  ऑटो से उतरकर सिलिविउ ग्रेटर कैलाश के एक फ्लैट में घुस गया, पुलिस भी वहां पहुंची व वहां पर उपस्थित एक एक फ्लैट का दरवाज़ा खटखटाया व आरोपी की तलाश करने लगी। थोड़ी देर में ही आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया।  

बता दें कि कोलकाता के साथ-साथ दिल्ली व मुंबई में भी ATM से चोरियां हो रही है। कोलकाता में पिछले 26 दिनों में कुल 230 शिकायतें दायर हुई हैं। यह रोमानियन गैंग हिंदुस्तान में प्रवेश कर डेढ़ महीने तक रुकते हैं व पहले ATM की रेकी करते है, दूसरी बार स्किम्मर लगाते हैं व तीसरी बार पैसे निकाल लेते हैं . पकड़े गए आरोपी के अन्य 3 आरोपी अभी फरार है । यह सभी आरोपी टूरिस्ट वीसा पर हिंदुस्तान आते है व ऐशो आराम की ज़िंदगी जीने के लिए इस तरह की घटनाओ को अंजाम देते हैं . यह आरोपी फ्लैट में रहते है व महंगे महंगे ब्रांडेड कपड़े, चश्मा, जूते मोबाइल व लैपटॉप रखते है।

इससे पहले यह लोग 14 अक्टूबर को हिंदुस्तान में प्रवेश किये थे । सिलिविउ के फ्लैट से पुलिस को यह स्किम्मिंग डिवाइस मिला है जो की मास्टरमाइंड बताया जा रहा है . व इसी ने प्लान बनाया था की किस इलाके के ATM को अपना टारगेट बनाना है व सिलिविउ ने ही इन स्किम्मर डिवाइस को विभिन्न ATM में लगाया था व कई बार पैसे भी निकाले थे।