हिंसक प्रदर्शन के बाद इतने लोगो को सरकार ने जारी किया है नोटिस, इस तरह सरकार करेगी भरपाई

हिंसक प्रदर्शन के बाद इतने लोगो को सरकार ने जारी किया है नोटिस, इस तरह सरकार करेगी  भरपाई

उत्तर प्रदेश में नागरिकता कानून के विरूद्ध हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद प्रदेश सरकार ने लोगों को नोटिस जारी किया है. रामपुर प्रशासन की तरफ से 28 लोगों को भेजे गए नोटिस में 14 लाख रुपये के सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की बात कहते हुए उसकी भरपाई की बात कही गई है.

मालूम हो कि यूपी में नागरिकता कानून के विरूद्ध विरोध प्रदर्शन के दौरान 16 लोगों की मृत्यु हो गई थी. वही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चेतावनी दी थी कि सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों को बख्शा नहीं जाएगा, उनसे बदला लिया जाएगा.

हिंसक प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस मोटर साइकिलों, बैरियर और अन्य सार्वजनकि संपत्ति को क्षति पहुंचाई थी. रामपुर प्रशासन की तरफ से जिन 28 लोगों को नोटिस जारी किया गया है उनमें एक एंब्रॉयडरी वर्कर व मसाले बेचने वाला भी शामिल है. ये लोग पहले से ही पुलिस हिरासत में हैं.

प्रशासन ने इन लोगों को सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का जिम्मेदार माना है. नोटिस में लोगों से स्पष्टीकरण मांगा गया है कि 14.86 लाख रुपये की सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के लिए उनसे क्यों ना वसूली की जाए. वहीं, एंब्रायडरी वर्कर जमीर की मां मुन्नी बेगम का बोलना है कि उन लोगों के पास एडवोकेट रखने के पैसे नहीं तो हर्जाना कहां से दें? उन्होंने बोला कि उनके पास अभी तक कोई रिकवरी नोटिस नहीं मिला है.

अपर जिला मजिस्ट्रेट की तरफ से जारी नोटिस में रामपुर एसपी के हवाले से बोला गया है कि 21/12/2019 को रामपुर थाना कोतवाली क्षेत्र में शाहबाद गेट स्थित ईदगाह व हाथीखाना चौराहे पर लोगों के उग्र प्रदर्शन के साथ सुरक्षा बलों पर फायरिंग/पथराव किया तथा तोड़फोड़ व आगजनी की गई.