सुप्रीम कोर्ट की कमेटी पर क्या है किसानों की राय

सुप्रीम कोर्ट की कमेटी पर क्या है किसानों की राय

नई दिल्ली: केंद्र के नए कृषि कानूनों पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की और इन तीनों कानून को लागू करने पर अगले आदेश तक रोक लगा दी। साथ ही इस मसले को हल करने के लिए एक कमेटी का गठन किया है। हालांकि कोर्ट के इस फैसले के किसान नाखुश हैं और कानूनों को रद्द किए जाने के अलावा किसी भी बात को मानने के लिए राजी ही नहीं हैं। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के कमेटी गठित किए जाने के फैसले पर भी नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि इस मामले में उन्होंने किसी भी तरह की मध्यस्थता की मांग नहीं की है।

हमारा कमेटी से कोई लेना देना नहीं
कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसानों का साफ कहना है कि उन्होंने पहले भी कमेटी बनाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था और सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित की गई कमेटी से उनका कोई लेना देना नहीं है। इस संबंध में सिंधु बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन में शामिल किसान नेता डॉ. दर्शनपाल का कहना है कि हम सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं, लेकिन इस मामले में हमने किसी तरह की मध्यस्थता के लिए मांग नहीं की है। ऐसी किसी भी कमेटी से हमारा संबंध नहीं है।


कमेटी के सदस्य रहे हैं कृषि कानूनों के पैरोकार
उन्होंने कहा कि ये कमेटी अदालत को तकनीकी राय देने के लिए बनी हो या किसानों और सरकार के बीच मध्यस्थता के लिए इस कमेटी से हमारा लेना देना नहीं है। दर्शनपाल का कहना है कि कमेटी में जो चार सदस्य हैं, वो सभी इन कृषि कानूनों के पैरोकार रहे हैं और बीते कई महीनों से खुलकर कृषि कानूनों के पक्ष में माहौल बनाने की असफल कोशिश करते आ रहे हैं।

कमेटी में ये हैं शामिल
संयुक्‍त किसान मोर्चा ने तो यहां तक कह दिया है कि यह बेहद अफसोस की बात है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपनी मदद के लिए इस कमेटी में एक भी निष्पक्ष व्यक्ति को नहीं रखा है। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने जो कमेटी गठित की है, उसमें भारतीय किसान यूनियन के भूपेंद्र सिंह मान, डॉ. प्रमोद कुमार जोशी, अशोक गुलाटी (कृषि विशेषज्ञ) और अनिल शेतकारी को शामिल किया गया है।

कैसे हल होगा मुद्दा?
जाहिर है कि दिल्ली की सीमा पर किसानों का हुजूम बीते 50 दिनों से लगा हुआ है। अलग-अलग बॉर्डर पर हजारों की संख्या में किसान जिनमें बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं, डटे हुए हैं। अब तक कई किसानों की मौत भी हो चुकी है, जिनमें से कुछ ठंड से जान गंवा बैठे हैं तो कुछ ने आत्महत्या कर ली है। कोर्ट के फैसले के बाद भी ये मुद्दा कैसे हल होगा ये बड़ा सवाल बनकर रह गया है।


अखिलेश ने किया सम्मानित, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की ब्रांड एम्बेसेडर अनुज्ञा मिश्रा

अखिलेश ने किया सम्मानित, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की ब्रांड एम्बेसेडर अनुज्ञा मिश्रा

शाहजहांपुर: एमए की एक ऐसी छात्रा जिसने तीन साल तक जिला प्रशासन से लेकर समाज में रहने वाली कमजोर महिलाओं और छात्राओं को जागरूक करने का काम किया। महज 20 साल की उम्र में शाहजहांपुर की पहली शक्ति परी और उसके ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ की ब्रांड एम्बेसेडर बनी और अब पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने लखनऊ में राष्ट्रीय आदर्श युवा सम्मान देकर सम्मानित किया। उत्तर प्रदेश के 100 युवाओं को सम्मानित किया गया है, जिन्होंने अलग अलग क्षेत्र में लोगों का मार्गदर्शन किया है। उन 100 लोगों में से 3 युवा शाहजहांपुर के भी हैं।

सम्मानित होकर उनका हौसला और बढ़ गया
दरअसल, लखनऊ में समाजवादी पार्टी कार्यालय में बीते 19 जनवरी को राष्ट्रीय युवा शक्ति सगंठन का एक कार्यक्रम था, जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया गया था। संगठन ने अलग अलग क्षेत्रों में लोगों का मार्गदर्शन करने वाले उत्तर प्रदेश के 100 युवा चेहरों को पूर्व मुख्यमंत्री के हाथ से राष्ट्रीय युवा सम्मान देकर सम्मानित कराया। सम्मानित होने वालों में शाहजहांपुर के 3 युवा शामिल थे, जिनमें 2 छात्राएं और एक छात्र शामिल हैं। मुख्यमंत्री के हाथ से सम्मानित होने के बाद तीनों युवा बेहद खुश हैं। सम्मानित होकर उनका हौसला और बढ़ गया।

“बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” का ब्रांड एम्बेसेडर के खिताब से नवाजा गया
हम बात कर रहे हैं शाहजहांपुर के चौक इलाके की रहने वाली एमए की छात्रा अनुज्ञा मिश्रा की। अनुज्ञा मिश्रा की उम्र तो महज 20 साल है, लेकिन वह किसी पहचान की मोहताज नही है। छात्रा को सिविल पुलिस सर्विसेज का ज्यादा शौक रहा है। इसलिए समाज से जुड़कर और समाज के लिए कुछ बेहतर करने का जज्बा हमेशा कुछ कर गुजरने का जुनून ने छात्रा को कई उपलब्धियां हासिल करा दी। सबसे पहले उनको 2017 में पावर एंजिल 1090 की पहली शक्ति परी बनने का खिताब हासिल हुआ, उसके बाद उनकी मेहनत और लगन देखकर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का ब्रांड एम्बेसेडर के खिताब से नवाजा गया

छात्रा को राष्ट्रीय आदर्श युवा सम्मान से सम्मानित किया
अब शहर में जागरूकता अभियान को लेकर कोई भी कार्यक्रम होता है, और अगर उस कार्यक्रम में अनुज्ञा मिश्रा न हो तो, ऐसा मुमकिन नही है। छात्रा की मेनहत लगन और लोगों को जागरूक करने का जज्बा देखकर ही लखनऊ सपा कार्यालय पर राष्ट्रीय युवा शक्ति सगंठन के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने छात्रा को राष्ट्रीय आदर्श युवा सम्मान से सम्मानित किया। छात्रा अनुज्ञा समेत तीनो युवा बेहद खुश हैं।

सम्मानित होने वाली छात्रा अनुज्ञा मिश्रा ने newstrack.com से बातचीत में बताया कि, राष्ट्रीय युवा शक्ति सगंठन की तरफ से जब फोन आया कि, सम्मानित करना चाहते है, तब बहुत खुशी हुई थी, लेकिन जब ये पता चला कि, सम्मानित खुद पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव करेंगे तो खुशी दोगुनी हो गई। लखनऊ में जब पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सम्मानित किया था, मेरे लिए सबसे ज्यादा खुशी का पल था। अनुज्ञा बताती है कि, अखिलेश यादव ने अपनी सरकार में पावर एंजिल 1090 शुरू किया था।

तब जनपद की पहली शक्ति बनने का मुकाम हासिल हुआ था। जब उनको बताया तो, अखिलेश यादव बहुत खुश हुए और उन्होंने वादा किया था कि, जल्द ही वह सांसद व पत्नी डिंपल यादव से मिलवाएंगे। उन्होंने मोबाईल नंबर कार्यालय में नोट कराने की बात की थी। अनुज्ञा को अब इंतजार है कि, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वादा किया है,अब वादे को पूरा करने का बेसब्री से इंतजार है।


तेज स्पीड इंटरनेट और हर स्टूडेंट तक गैजेट सुनिश्चित करे बजट, एजुटेक को मिले बढ़ावा       आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर में क्या हैं भाव       विकासोन्मुख हो बजट, नौकरियों के सृजन और रोजगार के लिए अर्थव्यवस्था में भारी निवेश की जरूरत       Big Bazaar ग्राहकों के लिए लाया है बेहद आकर्षक ऑफर, इतने रुपये के पूर्व-भुगतान पर मिलेगा 3000 रुपये की खरीदारी का मौका       मैथ्यूज का नाबाद शतक, श्रीलंका ने पहले दिन बनाए 4 विकेट पर 229 रन       इस पूर्व क्रिकेटर ने की मांग, इन दो खिलाड़ियों की जगह रिषभ पंत को मिले वनडे और टी20 में जगह       टीम इंडिया टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड को कितने के अंतर से हराएगी, ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने की भविष्यवाणी       शुभमन, सिराज व शार्दुल समेत छह भारतीय खिलाड़ियों को मिलेगी नई गाड़ी       इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी ने बताया, विराट कोहली किस बड़ी घटना के बाद छोड़ देंगे टीम इंडिया की कप्तानी       अजिंक्य रहाणे ने जीत के बाद इस भारतीय खिलाड़ी के लिए कहा था, 'आपका समय जरूर आएगा'       नवदीप सैनी ने इंजरी के बावजूद क्यों किया था गेंदबाजी करने का फैसला!       RCB का ये दिग्गज खिलाड़ी IPL में 100 करोड़ रुपये कमाने वाला पहला विदेशी खिलाड़ी बना       इस एक्टर की फ़िल्म 'पठान' का इंतज़ार कर रहे फैंस के लिए पहेली बनी उनकी नई तस्वीर       'आदतन अपराधी' सोनू सूद अवैध निर्माण मामले में पहुंचे सर्वोच्च न्यायालय       14 साल बड़े ब्वॉयफ्रेंड संग अपने रिश्ते को लेकर पहली बार बोलीं मुग्धा गोडसे, बताया- कब, कहां और कैसे हुई पहली मुलाकात       इस एक्ट्रेस ने शेयर की इब्राहिम की फोटो, बताई भाई की ये खास बात       OMG! इस एक्ट्रेस का जबरदस्त डांस वीडियो हुआ वायरल, मूव्स देख फैंस हुए हैरान       Sapna Chaudhary ने ब्लैक साड़ी में ढाया कहर, खुद को शेरनी बताते हुए फैंस से कही ये बात       इस एक्टर की फिल्म ‘बच्चन पांडे’ की नई रिलीज डेट आई सामने, अब इस दिन आएगी फिल्म       Thackeray फिल्म के लिए नवाजुद्दीन सिद्दीकी और अमृता राव नहीं थे पहली पसंद